Wednesday , October 18 2017
Home / Local / क्यों मनाया जाता है शब-ए-बरात ?

क्यों मनाया जाता है शब-ए-बरात ?

मुस्लिम कैलेण्डर के मुताबिक शाबान माह की 14 तारीख को शब-ए-बरात कात्योहार मनाया जा रहा है।

इबादत, तिलावत और सखावत (दान-पुण्य के इस त्योहार के लिए मस्जिदोंऔर कब्रिस्तानों में खास सजावट की जाएगी। रात मैं मनाए जाने वाले शब-ए-बरात के त्योहार पर कब्रिस्तानों में भीड़ का आलम रहेगा।

पिछले साल किए गए कर्मों का लेखा-जोखा तैयार करने और आने वाले सालकी तकदीर तय करने वाली इस रात को शब-ए-बरात कहा जाता है। इस रातको पूरी तरह इबादत मेंगुजारने की परंपरा है।

नमाज,तिलावत-ए-कुरआन,कब्रिस्तान की जियारत और हैसियत के मुताबिक खैरात करना इस रात के अहम काम है।

जमशेदपुर में इस त्योहार पर तरह-तरह के स्वादिष्ट मिष्ठानों जैसे चना का हलवा और खीर पूड़ी पर दिलाई जाने वाली फातेहा के साथ मनाया जाता है।

मुस्लिम धर्मावलंबियों के प्रमुख पर्व शब-ए- बरात के मौके पर मुस्लिम बहुलक्षेत्रों में शानदारसजावट होगी तथा जल्से का एहतेमाम किया जाएगा। रात्रिमें मुस्लिम इलाकों में शब-ए-बरात की भरपूर रौनक होगी।

okhla

शब-ए-बरात की रात शहर में कई स्थानों पर जलसों का आयोजन किया जाएगा।

इस्लामी मान्यता के मुताबिक शब-ए-बरात की सारी रात इबादत और तिलावत का दौर चलता है।

साथ ही इस रात मुस्लिम धर्मावलंबी अपने उन परिजनों, जो दुनिया से रूखसत हो चुके हैं, की मगफिरत मोक्ष की दुआएँ करने के के लिए कब्रिस्तान भी जाते हैं। इस रात दान का भी खास महत्व बताया गया है।

सय्यद इम्तियाज़ हसन, समाज सेवक

DISCLAIMER: The views expressed are of the author and OT doesn’t endorse it

If you have news tip or story idea, photo or video please email at greenokhla@gmail.com to strengthen local governance and community journalism. Also you can join us and become a source for OT to help us empower the marginalized through digital inclusion.

Check Also

alberokhla

Rush to enrol at Alber as 25% discount only available till Oct 31

Complete guidance for CBSE exams 2018 and crash course for X & XII Board Exam. …

One comment

  1. Shabe barat aik tayohar hai
    Kia baat phaila rahe ho qaum ko barbad kerdiya aap jaise kachhi pacci knowledge walon ne soch samajh ker post kia kero

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

8 + nine =

Powered by moviekillers.com