Friday , September 22 2017
Home / Local / ओखला की आवाम के सामने कुच्छ सच्चाई लाना चाहता हूँ

ओखला की आवाम के सामने कुच्छ सच्चाई लाना चाहता हूँ

ओखला की आवाम के सामने कुच्छ सच्चाई लाना चाहता हूँ और कुच्छ इलतिजा करना चाहता हूँ, writes Hilal Madni in his social media post.

1. ओखला की आज तक की कमो बेश आबादी 11 से 12 लाख है और वोटर्स 2 लाख 65 हज़ार , सरकारी सहूलतें जो आती हैं या लायी जा सकती हैं वोह 2 लाख 65 हजार के हिसाब से मिल सकती हैं और आज उम्मीद 11 से 12 लाख लोग लगाये बैठे हैं क्या सोचने वाली बात नही I

2. आज वही 11 , 12 लाख लोग अगर अपने घर की गन्दगी घरों से निकाल कर सड़कों पर फेक दें तो सफाई कैसे हो सकती है नालियाँ उन गंदगी की वजह से भरी रहती हैं क्या हमारा फर्ज नही की हम सब अपनी गनदगी को बाहर ना फेक कर कुडे वाले को दें ताकी सफाई इलाके की करने मे आसानी हो I हम आज इलाके के विधायक पर ऊंगली तो उठाते हैं मगर अपने फर्ज को भूल जाते हैं I

3. क्या आज किसी मुहिम का हम हिस्सा बनना चाहते हैं नही सिर्फ सहूलतें चाहते हैं पर अपना वखत् देना नही चाहते I क्या विधायक की चलाई किसी मुहिम मे ताकत के साथ उसके साथ खडे होते हैं ताकी सरकारें उस ताकत के सामने झुक जायें और इलाके को मजबूती मिले आपने वोट दिया और अब उसका साथ दीजिये वोट काफी नही I

मोह्ल्ला कलीनिक , स्कूल जल्द इलाके मे आ रहे हैं जगह कम है जो है उसमे बनेगे महरबानी करके ताकत के साथ जुड़िये और इस काम को अंजाम तक पहुचाईये यकीन मानिये इलाके की आबादी के हिसाब से कुच्छ नही है फिर भी अपनी ताकत दिखाइये ताकी और सहूलतें देने मे सरकारें मजबूर हो जायेगी I

सबसे अहम वोटर कार्ड बनना शुरू हो रहे हैं अपना अपना कार्ड बनवाइये और अपने इलाके की ताकत को द्रज कीजिये मुशकिल कुच्छ नही ईमान्दारी से विधायक का साथ दीजिये.

DISCLAIMER: The views expressed in the write-up are of the author, who is a resident of Okhla

If you have news tip or story idea, photo or video please email at greenokhla@gmail.com to strengthen local governance and community journalism. Also you can join us and become a source for OT to help us empower the marginalized through digital inclusion.

Check Also

Exclusive interview of author of ‘Kashmir & Me’

Renu Mittal is an author whose debut novel on the Valley has been published by …

One comment

  1. Yeh wahi vidhayak hai jisne encroachment ke khilaf muhim ko apne fayde ke liye rukwa diya tha ! Hilal Bhai vidhayak ke liye samarthan maang rahe hain jo janta ne bharpoor diya lekin badle main dengue se 70 se zyada mauten mileen.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

15 + 4 =

Powered by moviekillers.com