Sunday , May 28 2017
Home / Local / जौहरी फार्म में वकील की सरेआम हत्या

जौहरी फार्म में वकील की सरेआम हत्या

Story filed by रिज़वाना नियामतुल्लाह

नई दिल्ली। सोमवार की शाम को मग़रिब के वक़्त मोटरसाइकिल पर सवार अज्ञात लोगों ने ओखला के जौहरी फार्म में वकील एम.एम. खान को गोली मार दी। गोली मारने के बाद हमलावर फ़ौरन भाग खड़े हुए। खान को होली फैमिली हॉस्पिटल ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने कुछ देर बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया।

lawyer killed in Johri Farmबताया जाता है कि हमलावर खान के घर के कोने पर खड़े थे। जौहरी फार्म की सातवीं गली में रहने वाले वकील जैसे ही अपने घर के पास पहुंचे उन पर उन्हें गोली मार दी गई।

देर रात गली में उनके घर के पास शोक जताने वाले लोगों का मज़मा लगा था। प्रेस और टीवी के पत्रकार आसपास के लोगों से जानने की कोशिश कर रहे थे कि खान साहब की किसी से कोई दुश्मनी तो नहीं थी, स्वभाव के कैसे थे, कितनी उम्र थी।

ALSO READ
Advocate shot at in Johri Farm

उसी गली में रहने वाले अब्दुर रशीद ने ओखलाटाइम्स को बताया कि पचासेक साल के खान साहब निहायत शरीफ इंसान थे, आप गऊ कह सकते हैं। नमाज़ी थे और अक्सर नमाज़ के बाद चहलक़दमी करते हुए घर लौटते थे।

एम.एम. खान की मौत की खबर सुनते ही आसपास के लोगों के साथ ही इलाके की पुलिस और वकील जमा हो गए। देर रात साकेत कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजपाल कसाना ग़मज़दा परिवार से मिलने पहुंचे।

वहां मौजूद पुलिसवालों को उन्होंने चेताया कि अगर कल तक मामला नहीं सुलझा तो परसों यानी बुधवार को दिल्ली के सारे वकील हड़ताल करेंगे। स्थानीय पुलिस पर ढिलाई बरतने का आरोप लगाते हुए एक सब इंस्पेक्टर को चेताया कि साकेत कोर्ट में घुस नहीं पाओगे। कसाना ने कहा कि हमारी कोई पार्टी नहीं है, हमारा एक साथी मारा गया है, काली कोटवाला। तुम्हारी खाकी वर्दीवाला मारा गया होता तो जिस तरह जांच करते उसी तरह करो।

इन सबके बीच सातवीं गली के लोग जहाँ सहमे दिख रहे थे वहीँ आसपास के लोग उनसे उत्सुकतावश कई तरह के सवाल पूछ रहे थे। लेकिन सही जानकारी देने वाले लोग इस मौत से सदमे में हैं लिहाज़ा कोई सटीक जानकारी नहीं है कि हत्यारे कौन हो सकते हैं। पुलिस आसपास के घरों लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग खंगाल कर कुछ सुराग़ निकाल सकती है।

If you have news tip or story idea, photo or video please email at greenokhla@gmail.com to strengthen local governance and community journalism. Also you can join us and become a source for OT to help us empower the marginalized through digital inclusion.

Check Also

When is Ramzan in 2017 in India: Saturday or Sunday?

After reports surfaced in a Middle East daily of Ramzan being held in the region …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code

Powered by moviekillers.com